Fazilka Online News
News 24x7 Live

कार फ्री जोन: बना पार्किंग जोन

वाहनों से निकलने वाला धुआं, एतिहासिक इमारत को कर रहा है काला
घंटाघर के आस पास कारें खड़ी होने से पैदल व छोटे वाहनों के लिये नहंी है रास्ता
फाजिल्का, 14 नवम्बर (चंदन कामरा): अकाली भाजपा के कार्यकाल में चौंक घंटाघर को खुलते तीन बाजारों के समक्ष गेट लगाकर भारी वाहनों की आवाजाही रोकी गई थी और घंटाघर के आसपास के एरिया को कार फ्री जोन घोषित किया गया था। लोग छोटे वाहनों पर अथवा पैदल यहां आते थे प्रदूषण मुक्त वातावरण में खुली सांस लेते थे। चौंक सुंदर दिखाई देता था, ट्रैफिक व्यवस्था सुचारु थी। लेकिन अब यह गुजरे जमाने की बात लगती है। सरकार बदलते ही यह नियम भी बदल गया। अब चौंक घंटाघर ट्रैफिक कु व्यवस्था का शिकार हो गया है। इस बाजार से कारें गुजरती नहंी है बल्कि पार्क होती है। लोग बड़े वाहनों की पार्किंग कर आस पास के बाजारों में खरीददारी करते हैं और इन कारों की वजह से लोगों का पैदल गुजरना भी मुश्किल हो जाता है। एतिहासिक इमारत घंटाघर अब पार्किंग स्थल के लिये भी तबदील हो चुकी है। यहां के दुकानदार व गुजरने वाले लोग काफी परेशान दिखाई देते हैं, दुकानों के आगे कारें खड़ी करने से जहां यातायात व्यवस्था प्रभावित हो रही है वहीं यहां के दुकानदारों की ग्राहकी भी प्रभावित हो रही है। कारों व अन्य वाहनों से निकलने वाला धुआं एतिहासिक इमारत को काला कर रहा है। शहर के पर्यावरण प्रेमिओं ने तीनों गेटों को दोबारा बंद कर बड़े वाहनों को घंटाघर के आस पास आने से रोकने की अपील की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.