Fazilka Online News
News 24x7 Live

फाजिल्का के पटवारखाने में काम करते हैं प्राइवेट कर्मचारी | हाईकोर्ट के आदेशों की नहीं परवाह

पटवारखाने में प्राइवेट लड़के व लड़कियां काम कर रहे हैं। पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट का आदेश है कि किसी भी सरकारी कार्यालय में कोई भी अधिकारी व कर्मचारी अपने नीचे काम करने के लिए हेल्पर नहीं रख सकता। फाजिल्का के पटवारखाने में इस नियम की धज्जियां सरेआम उड़ाई जा रही हैं तथा अपने नीचे पांच-पांच लड़के व लड़कियां रखी हुई हैं, जो सरासर नियमों का उल्लंघन है। इतना ही नहीं यह प्राइवेट लड़के व लड़कियां ही लोगों के गिरदावरी, इंतकाल, पड़ताल आदि के काम करवा रहे हैं।

फाजिल्का के जट्टियां मोहल्ला निवासी साहिल कुमार ने बताया कि वह अपना काम करवाने के लिए तहसील कांप्लेक्स में स्थित पटवारखाने गया, तो वहां उसे पता चला कि सरकारी पटवारियों ने चार से पांच प्राइवेट कर्मचारी रखे हुए थे तथा वह वहां पर रोजनामचा तथा जमाबंदियों का काम कर रहे थे। उनके द्वारा लोगों को गुमराह करके ठगी मारी जा रही थी। साहिल कुमार ने बताया कि उक्त व्यक्ति पहले तो नाम, रपट नंबर वगैरह दर्ज करवा देते हैं तथा बाद में दुरुस्त करने के लिए लोगों से पैसों की मांग करते हैं। जब उक्त व्यक्तियों ने उससे पैसों की मांग की तो उसने उनको पैसे देने से मना कर दिया, तो तैश में आकर वह उसके साथ झगड़े पर उतर आए और धमकियां देने लगे कि उनकी पहुंच ऊपर तक है उसे वह झूठे केस में फंसा देंगे। साहिल ने बताया कि पटवारियों ने पटवाराखाना छोड़कर प्राइवेट दफ्तर भी बना रखे हैं, जिसे मौके पर जाकर देखा जा सकता है। उसने बताया कि इस संबंधी उसने डीसी ईशा कालिया को भी 13 दिसंबर को लिखित शिकायत दी थी, ¨कतु अभी तक कार्रवाई नहीं की गई।

वहीं, पटवार यूनियन के अध्यक्ष इंद्र मोहन से बात की गई कि पटवारखाने में प्राइवेट व्यक्ति काम कर रहे हैं तो उन्होंने कहा कि सरकारी रिकार्ड में किसी पटवारी के पास कोई हेल्पर नहीं है। जब उनसे कहा गया कि हमारे पास इसकी फोटोग्राफ है तो उन्होंने इसका कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया। वहीं, जब तहसीलदार दर्शन ¨सह से बात की तो उन्होंने कहा कि विभाग की तरफ से उनको सख्त हिदायतें हैं। अगर फिर भी किसी पटवारी ने प्राइवेट आदमी रखे हुए हैं तो वह गलत है इसकी लिखित शिकायत पूरे सबूत के साथ उनको आकर मिला जा सकता है। वहीं, एसडीएम बलबीर राज ¨सह से बात की गई तो उनका कहना था कि वह जल्द ही तहसीलदार से इस मामले की जांच करवाकर नियमों का उल्लंघन करने वाले पटवारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।

Source Jagran

Leave A Reply

Your email address will not be published.