Fazilka Online News
News 24x7 Live

परीक्षा केंद्र मामले में प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने सरकार के नाम डीसी को सौंपा ज्ञापन 

प्राइवेट स्कूलों में सेंटर स्थापित न हुआ तो करेंगे संघर्ष: शाम लाल, विजय मोंगा 
सरकार ने विद्यार्थियों की सुरक्षा दाव पर लगाई
फाजिल्का (सरहद केसरी ब्यूरो): पंजाब सरकार द्वारा बोर्ड परीक्षा के लिये प्राइवेट स्कूलों में परीक्षा केंद्र स्थापित न करने के निर्णय के खिलाफ समूह प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन द्वारा कड़ा ऐतराज जताया जा रहा है। गत दिनों एसोसिएशन द्वारा बैठक कर सरकार के इस निर्णय की कड़े शब्दों में निंदा की गई थी और निर्णय को वापिस लिये जाने की मांग की गई थी। इसी संबंध में आज समूह प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन द्वारा मुख्यमंत्री पंजाब, शिक्षा मंत्री पंजाब, पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड के सचिव व जिला शिक्षा अधिकारी के नाम एक ज्ञापन जिला उपायुक्त श्री मती ईशा कालिया को उनके कार्यालय में सौंपा। शिष्टमंडल के प्रवक्ता ने बताया कि जिला उपायुक्त ने उक्त पत्र सरकार को भेजे जाने का आश्वासन दिया। इस शिष्टमंडल ने एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष शाम लाल अरोड़ा, अबोहर के अध्यक्ष किरण अरोड़ा, मनजीत सिंह, नरेश बाघला, श्री भगवान, एसपीएस कटारिया, कृष्ण लाल, माही राम, सुभाष भट्टी, सोनू पोपली, योगेश मोंगा, सुरेंद्र पाल, अंजू बांसल, रमा डोगरा, विजय कुमार मोंगा, रमन झांब, सुमित मदान, नरेश जुनेजा, सतीश सेतिया, सुधीन जैन, विशु चलाना सहित एसोसिएशन के अन्य सदस्य मौजूद रहे। ज्ञापन सौंपने के बाद प्रेस को जानकारी देते हुये शाम लाल अरोड़ा व विजय कुमार मोंगा ने बताया कि प्राइवेट स्कूलों में परीक्षा केंद्र स्थापित न होनेे के कारण विभाग को दूर दूर के क्षेत्रों में परीक्षा केंद्र स्थापित करने पड़ेंगे। जिससे विद्यार्थियों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। गांवों से आने वाले विद्यार्थियों को वाहनों की व्यवस्था करनी पड़ेगी। खास कर लड़कियों को भारी मुश्किल होगी। रास्ते में सुरक्षा न मिलने से कोई असुखद घटना भी हो सकती है। बोर्ड द्वारा सेंटर संबंधी बार बार किये जा रहे ऐलान व जारी किये जा रहे फरमान से बच्चों व उनके अभिभावकों में भय का माहौल बना हुआ है। उन्होंने कहा कि बीते 40 वर्षों से प्राइवेट स्कूलों में सेंटर स्थापित किये जा रहे हैं। किसी तरह की कोई शिकायत भी नहीं मिली। प्राइवेट स्कूलों के पास प्रबंध भी पूरा है। विद्यार्थियों को भी आसानी है। इसके बावजूद सेंटर स्थापित न करना सरकार की स्कूलों व विद्यार्थियों के साथ धक्केशाही है इसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। अगर प्राइवेट स्कूलों में सेंटर स्थापित न हुये तो संघर्ष को तेज कर दिया जायेगा।

Source Sarhad Kesri
Via Fazilka Online News

Leave A Reply

Your email address will not be published.